चरित्र

ना.  आयुष्यक्रम , कथा , कहाणी , गोष्ट , चरित , जीवनकहाणी , जीवनक्रम , व्यक्तीचा इतिहास ;
ना.  आचरण , वर्तन .
pop. चरित n Actions, deeds, proceedings; esp. the exploits, feats, and achievements of gods and heroes. Pr. स्त्रीचें च0 आणि पुरुषाचें भाग्य कोण्हास समजत नाहीं. Ex. कथीन चरितरूपें व्यास भावार्थ हो तो.
 न. चरित १ कृत्यें ; क्रिया ; आचरण ; वर्तन . ये दशे चरित्र केलें नारायणें । - तुगा ८५ . २ आवस्था ; स्थिति ; प्रकार . जाणोनि चरित्र जवळीच होता । आली अनंता कृपा मग । - तुगा १०९ . ३ देवांचे , वीरांचे , पराक्रम ; महत्कृत्यें ; मर्दुमकीचीं कामें . स्त्रीचें चरित्र आणि पुरुषाचें भाग्य कोणास समजत नाहीं . ४ इतिहास ; कथा ; गोष्ट ; प्रकार . ते गुणभेदचरित्र । ऐसें आहे । - ज्ञा १८ . ५२३ . ५ विशिष्ट व्यक्तीचा आयुष्यक्रम ; तो वर्णन करणारा ग्रंथ . [ सं . चरित ]
  Actions, deeds, proceedings; esp. the exploits, feats, and achievements of gods and heroes. Biography.
  |  
  • भक्तो और महात्माओंके चरित्र मनन करनेसे हृदयमे पवित्र भावोंकी स्फूर्ति होती है ।  
  • अत्रि
    भक्तो और महात्माओंके चरित्र मनन करनेसे हृदयमे पवित्र भावोंकी स्फूर्ति होती है ।
  • अनामी राजा
    भक्तो और महात्माओंके चरित्र मनन करनेसे हृदयमे पवित्र भावोंकी स्फूर्ति होती है ।
  • आरण्यक
    भक्तो और महात्माओंके चरित्र मनन करनेसे हृदयमे पवित्र भावोंकी स्फूर्ति होती है ।
  • अगस्त्य
    भक्तो और महात्माओंके चरित्र मनन करनेसे हृदयमे पवित्र भावोंकी स्फूर्ति होती है ।  
  • आरुणि
    भक्तों और महात्माओंके चरित्र मनन करनेसे हृदयमे पवित्र भावोंकी स्फूर्ति होती है ।
  • ब भ
    भक्तो और महात्माओंके चरित्र मनन करनेसे हृदयमे पवित्र भावोंकी स्फूर्ति होती है ।
  • बाणासुर
    भक्तो और महात्माओंके चरित्र मनन करनेसे हृदयमे पवित्र भावोंकी स्फूर्ति होती है ।
  • बलि
    भक्तो और महात्माओंके चरित्र मनन करनेसे हृदयमे पवित्र भावोंकी स्फूर्ति होती है ।
  • भृगु
    भक्तो और महात्माओंके चरित्र मनन करनेसे हृदयमे पवित्र भावोंकी स्फूर्ति होती है ।
  • भर्तृहरि
    भक्तो और महात्माओंके चरित्र मनन करनेसे हृदयमे पवित्र भावोंकी स्फूर्ति होती है ।
  • भीम कुम्हार
    भक्तो और महात्माओंके चरित्र मनन करनेसे हृदयमे पवित्र भावोंकी स्फूर्ति होती है ।
  • भरत
    भक्तो और महात्माओंके चरित्र मनन करनेसे हृदयमे पवित्र भावोंकी स्फूर्ति होती है ।  
  • भरत राजा
    भक्तो और महात्माओंके चरित्र मनन करनेसे हृदयमे पवित्र भावोंकी स्फूर्ति होती है ।
  • भद्रमति
    भक्तो और महात्माओंके चरित्र मनन करनेसे हृदयमे पवित्र भावोंकी स्फूर्ति होती है ।
  • भरद्वाज
    भक्तो और महात्माओंके चरित्र मनन करनेसे हृदयमे पवित्र भावोंकी स्फूर्ति होती है ।
  • भलराज
    भक्तों और महात्माओंके चरित्र मनन करनेसे हृदयमे पवित्र भावोंकी स्फूर्ति होती है ।
  • च छ
    भक्तो और महात्माओंके चरित्र मनन करनेसे हृदयमे पवित्र भावोंकी स्फूर्ति होती है ।
  • चक्रिक
    भक्तो और महात्माओंके चरित्र मनन करनेसे हृदयमे पवित्र भावोंकी स्फूर्ति होती है ।
  • द ड ध
    भक्तो और महात्माओंके चरित्र मनन करनेसे हृदयमे पवित्र भावोंकी स्फूर्ति होती है ।
  |  
: Folder : Page : Word/Phrase : Person